REET पेपर लीक लेटेस्ट न्यूज today in Hindi-Exam cancel or Not !

Reet paper leak letest news today live in hindi Bikaner Nideshalaya rajasthan patrika dainik bhaskar reet bharti 2021 ki latest news
दौसा और जयपुर ग्रामीण में पुलिस ने चार और आठ डमी उम्मीदवारों को गिरफ्तार किया और बीकानेर, अजमेर, प्रतापगढ़, सीकर, भरतपुर और जोधपुर में धोखाधड़ी में शामिल कई गिरोहों का पर्दा फास किया था राजस्थान में शिक्षक भर्ती के लिए अब तक की सबसे बड़ी परीक्षा रीट 2021 रविवार, 26 सितंबर को राज्य भर में आयोजित की गई थी।
इस दौरान इंटरनेट सेवा भी बंद रही। लेकिन पुलिस ने कई परीक्षार्थियों को नकल के मामले में पकड़ा था।
दो पुलिस अधिकारी, एक शिक्षा अधिकारी, 12 टीचर और तीन पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है. अब तक 100 लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं

पेपर दुबारा होगा या नहीं –

राजस्थान पुलिस ने कई परीक्षार्थियों की चप्पलों में छिपे ब्लूटूथ डिवाइस को जब्त कर लिया, जबकि परीक्षा  में 40 लोगों को गिरफ्तार किया गया और दो दर्जन से अधिक से पूछताछ की गई थी। कुछ ने तो इन ब्लूटूथ चप्पलों का उपयोग करने के लिए छह लाख रुपये तक का भुगतान भी किया था।

 

आरईईटी धोखाधड़ी मामले में, भाजपा ने सीबीआई से जांच की मांग की है। इसमें राज्य के शिक्षा मंत्री के इस्तीफे की भी मांग की गई है। राजस्थान में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने कहा कि मुख्यमंत्री को उन्हें हटा देना चाहिए अगर वह ऐसा नहीं करते हैं।

एक राज्यव्यापी इंटरनेट आउटेज लगभग 12 घंटे तक चला। कई छात्रों को अपने वांछित स्थानों पर पहुंचने में देरी हो रही थी। अनियमितताओं और धोखाधड़ी के आरोपों से कई लोग निराश हैं और नई शिक्षक भर्ती परीक्षा की मांग कर रहे हैं.

याचिकाकर्ता के अनुसार सवाई माधोपुर के गंगापुर शहर में प्रश्नपत्र सुबह साढ़े आठ बजे लीक हो गया था, परीक्षा सुबह 10 बजे शुरू होनी थी. रिपोर्ट में कहा गया है, “लीक पेपर कांस्टेबल देवेंद्र सिंह के पास पाया गया था और परीक्षा शुरू होने से पहले पैसे लेकर कई उम्मीदवारों को कथित तौर पर प्रश्न पत्र बांटा था.” याचिकाकर्ता ने परीक्षा रद्द करने की मांग की है और सीबीआई जांच की मांग की है.

चप्पल के जरिए हाइटेक तरीके  से परीक्षा में नकल के इंतजाम की बात सामने आई है।

रीट पेपर लीक मामले में मुख्य आरोपी बातीलाल को गिरफ्तार कर लिया गया है जो SOG टीम के सामने 12 लाख रूपये में 18 लोगों तक पेपर देने की बात कबूली है। बातीलाल को पेपर देने वालों तीन सरगना रवी पगड़ी ,रावी जीनापुर व पृथ्वीराज मीणा को पेपर देने वाला बताया है जिनको भी गिरफ्तार कर लिया गया है

अब इंतजार इस बात का है कि इन तीनों को पेपर किसने दिया व कितने अभ्यर्थियों को पेपर दिया है और कितने आदमी इस लीक मामले में लिफ्त है

क्या पेपर दुबारा होगा या फिर इसकी सीबीआई जाँच होगी या जिन अभ्यर्थियों को पेपर दिया गया उनको बाहर किया जायेगा इन सब जानकारियों के लिए बने रहे हमारे साथ अगले आर्टिकल तक ……