REET Paper Leak News Today SOG Press Conference On REET Exam 2021 Update

REET 2021 Update: REET Paper Leak News SOG Press Conference On REET Exam -पेपर Leak मामले में अजमेर से बड़ी खबर आ रही है जहां पर एसओजी की टीम रीट कार्यालय पहुंचे और जारोली के कक्ष में मौजूद अध्यक्ष ने मीडिया से बात करने से इनकार कर दिया है परिस्थितियां किस तरफ आगे बढ़ रही है लेकिन हां इतना जरूर साफ है कि SOG जो पूरी जांच के केंद्र में कहीं ना कहीं बोर्ड अंदर है SOG के अधिकारी मौजूद है और पूछताछ का जो दौर लगातार जारी है.

REET 2021 Update

REET Paper Leak News

REET Paper Leak News:  SOG राजस्थान के REET कार्यालय में मौजूद है इसलिए अपना पक्ष किसी भी तरीके से नहीं रखेंगे लेकिन उन्होंने इतनी जानकारी अवश्य जुड़े हुए अन्यथा जब परीक्षा कब से ले कर के अगर हम दो-तीन दिन पहले तक की बात करें तो बहुत सहजता के साथ उपलब्ध होते थे डीपी जारोली लेकिन जल्दी कुछ और गिरफ्तारियां हो सकती हो सकती है

हाईकोर्ट में लगी REET केस की जल्द सुनवाई की एप्लीकेशन: याचिकाकर्ता के वकील बोले-पेपर लीक की CBI से हो जांच, परीक्षा हो रद्द

REET परीक्षा रद्द कर नए सिरे से एग्जाम की मांग

REET पेपर लीक मामले में राजस्थान हाईकोर्ट में जल्द सुनवाई की एप्लीकेशन लगाई गई है। याचिकाकर्ता कैंडिडेट भागचन्द शर्मा की ओर से उनके वकीलों ने अर्ली हीयरिंग की एप्लीकेशन लगाई है। जिस पर जल्द सुनवाई की उम्मीद है। एसओजी की जांच सामने आने के बाद अब रीट एक्जाम 2021 को रद्द करने की मांग ने फिर जोर पकड़ लिया है। एसओजी की जांच में परीक्षा से पहले ही शिक्षा संकुल से परीक्षा का पेपर लीक होने के खुलासे होने के बाद याचिकाकर्ता कैंडिडेट की ओर से न्यायालय से जल्द सुनवाई की गुहार लगाई गई है। एसओजी के नए सुबूत सामने आने के बाद रीट परीक्षा रद्द करने, पेपर लीक और धांधली की सीबीआई से जांच करवाने, नए सिरे से परीक्षा करवाने जैसी कई मांगें याचिकाकर्ता के वकील हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान उठाएंगे। भागचन्द शर्मा बनाम राज्य सरकार केस हाईकोर्ट में पेंडिंग है। केस की सुनवाई 27 जनवरी 2022 को होनी थी। लेकिन किसी कारण से सुनवाई नहीं हो सकी।

26 लाख कैंडिडेट प्रभावित

याचिकाकर्ता रीट कैंडिडेट भागचन्द शर्मा के एडवोकेट दिनेश कुमार गर्ग और दीपक कुमार कैन हैं। एडवोकेट दीपक कुमार कैन कहा कि एसओजी के खुलासे से यह साबित हो गया है कि रीट परीक्षा में बड़ी धांधली हुई है। एसओजी की मौजूदा जांच से भी पता चलता है कि इसमें बड़े अधिकारी और लोगों से जुड़े हैं। 26 लाख परीक्षार्थियों के साथ विश्वासघात हुआ है। यह बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। राजस्थान हाईकोर्ट में भागचन्द शर्मा बनाम राजस्थान सरकार सिविल रिट पिटिशन पर जल्दी सुनवाई की गुहार लगाई गई है। कोर्ट से परीक्षा निरस्त करते हुए इसकी जांच सीबीआई से करवाने की मांग की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिस तरह अलवर गैंगरेप केस की जांच सीबीआई को सौंपने का फैसला लिया गया है। उसी तर्ज पर रीट केस की जांच भी बिना देरी किए सीबीआई से करवानी चाहिए। परीक्षा को निरस्त कर नए सिरे से करवाई जाए।

SOG की जांच पूरी हुए बिना रिजल्ट हुआ जारी

रीट कैंडिडेट भागचन्द की जनहित याचिका को इससे पहले हाईकोर्ट की डिविजनल बेंच ने खारिज करते हुए सिंगल बेंच में सिविल रिट के तौर पर केस लगाने की लिबर्टी दी थी। इसके बाद सिंगल बेंच में याचिकाकर्ता ने सिविल रिट लगाई। इस याचिका में भी परीक्षा के पेपर लीक के आरोप लगाए गए हैं। जस्टिस महेन्द्र कुमार गोयल की बेंच में मामले की सुनवाई हो रही है। राज्य सरकार, प्रमुख सचिव एलीमेंट्री एजुकेशन,राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड और रीट-2021 परीक्षा कॉर्डिनेटर केस में पार्टी हैं। इनकी ओर से एएसजी एमएस सिंघवी, दर्श पारीक और विज्ञान शाह पैरवी कर रहे हैं। राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 26 सितम्बर 2021 को रीट परीक्षा करवाई थी। एसओजी की जांच पूरी हुए बिना ही आनन-फानन में परीक्षा के 36 दिन में ही बोर्ड ने रिजल्ट जारी कर दिया। अब एसओजी ने शिक्षा संकुल के संट्रॉन्ग रूम से परीक्षा से एक दिन पहले ही पेपर लीक का खुलासा कर कुछ आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिसके बाद मामला और गरमा गया है।

SOG REET कार्यालय में क्यों गई थी ?

बोर्ड अध्यक्ष का बयान है कि एसओजी की टीम यहां डाटा और दस्तावेज लेने के लिए आई थी जिन्हें हम यहां से जो बुकलेट आउट हुई उसका डाटा प्रोवाइड कराया गया है और अन्य दस्तावेज जो भी मांगेंगे उनको दिए जाएंगे उसके लिए भी यह बार-बार कार्यालय आते रहेंगे भजनलाल ने वित्त का पेपर 30 से 40 लाख रुपए में अभ्यर्थियों  को बेचा था आरोपी उदाराम बिश्नोई और राम कृपाल मीणा की गिरफ्तारी हो चुकी है

REET Paper Leak News Update

एबीवीपी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी के मेन गेट पर जोरदार प्रदर्शन किया

शिक्षा संकुल से रामकृपाल ने 24 सितंबर को ही पेपर निकाल लिया था

रामकृपाल ने पेपर के बदले उदाराम को एक करोड़ 22 लाख रुपए दिए थे

मामले में अब तक कुल 35 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं

एसओजी ने कुछ दिन पहले मुख्य आरोपी भजनलाल को भी गुजरात से गिरफ्तार किया था

आरोपी बत्तीलाल की गिरफ्तारी के बाद भजनलाल का नाम सामने आया था

दस्तावेज लेने के लिए REET Office पहुंची एसओजी.

SOG Press Conference On REET Exam

झाडोली ने कहा कि जांच में सारे एक्यूज्ड पकड़े गए एसओजी यह पूछ रही थी कि उसने कहां से बुकलेट ली क्या ली इस संबंध में बुकलेट की जानकारी लेने रीड ऑफिस पहुंची एसओजी

रीट परीक्षा के लिए राज्यसभा सांसद किरोड़ी लाल मीणा ने इस परीक्षा को रद्द करके दोबारा से नए सिरे से परीक्षा करवाने के लिए आंदोलन जारी किया है

इस पेपर लीक मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग की है

आने वाले 5 से 6 दिनों में जितने भी बड़े नाम रीट परीक्षा पेपर लीक से जुड़े हुए हैं उन सभी का खुलासा कर दिया जाएगा ऐसा एसओजी का बयान है

REET Paper leak News in Hindi

कुछ संकाय का अलवर की परीक्षा केंद्र पर है जहां से मीडिया द्वारा सीसीटीवी फुटेज का सरकुलेशन मांगा गया तो वहां पर सीसीटीवी फुटेज की लाइन ही कट मिली इसकी जांच के लिए उस समय भी काफी चर्चाएं हुई थी और अब भी है

विपक्ष का आरोप भी है और एसओजी जिस दिशा के अंदर आई व जाँच कर चुकी है कि कई बड़े नाम शामिल हो सकते हैं इस पूरी साजिश के अंदर तो वो तमाम नाम जब सामने आएंगे और उनकी भूमिका जब सामने आएगी तो जाहिर तौर पर कुछ बड़ों की गिरफ्तारी भी हो सकती है कुछ बड़े नामों के ऊपर आंच भी गिर सकती हैतमाम सवाल है सबसे बड़ी बात तो यह है कि जब शिक्षा संकुल से पेपर लीक हुआ है तो शिक्षा संकुल के अंदर पेपर की सुरक्षा है उसको सुनिश्चित करने की क्या प्रयास किए गए सभी जिला केंद्रों के ऊपर सरकारी अधिकारियों को लगाया जबकि शिक्षा संकुल है जहां पर भी मेंबर को सुरक्षित रखा गया था जयपुर के अंदर जो संबंध में थे जो पार्टी ने प्राइवेट को लगा दिया गया राजस्थान के बोर्ड अध्यक्ष डॉक्टर जारोली को शिक्षा बोर्ड राजस्थान 2022 के अंदर होने वाली परीक्षा का दायित्व सौंपा गया है  है

REET सटीक कट ऑफ की जानकारी के लिए यहाँ देखे 

रीट की ऑफिसियल वेबसाइट पर यहाँ से जाये 

रीट-2021:

राजस्थान में सरकारी स्कूलों में लेवल-1 और लेवल-2 के रिक्त पदों को भरने के लिए शिक्षा विभाग ने 32 हजार पदों की भर्ती करेगा। जिसके तहत प्राथमिक और उच्च प्राथमिक के साथ ही विशेष शिक्षा के पदों पर आवेदन मांगे गए हैं। आवेदन 10 जनवरी से शुरू हो गए हैं और 9 फरवरी तक भरे जाएंगे। इसके लिए अभ्यर्थी SSO आईडी के माध्यम से शिक्षा विभाग की वेबसाइट http://recruitment.rajasthan.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे।

भर्ती प्रक्रिया के दौरान एक से अधिक पद की योग्यता या पात्रता होने पर अभ्यर्थी को अलग-अलग आवेदन करना होगा। वहीं ऑफलाइन आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे। ऑनलाइन आवेदन के दौरान गैर अनुसूचित क्षेत्र के विज्ञप्ति पदों के लिए अनुसूचित क्षेत्र सहित पूरे राजस्थान और राजस्थान के बाहर के अभ्यर्थी भी आवेदन कर सकेंगे। अनुसूचित क्षेत्र के विज्ञप्ति पदों के लिए सिर्फ राजस्थान के अनुसूचित क्षेत्र के मूल अभ्यर्थी ही आवेदन कर पाएंगे।

पदों की संख्या: 31 हजार सामान्य शिक्षा + 1000 विशेष शिक्षा

गैर अनुसूचित क्षेत्र अध्यापक लेवल-1 सामान्य शिक्षा – 11500
गैर अनुसूचित क्षेत्र अध्यापक लेवल-1 विशेष शिक्षा – 440
अनुसूचित क्षेत्र अध्यापक लेवल-1 सामान्य शिक्षा – 3500
अनुसूचित क्षेत्र अध्यापक लेवल-1 विशेष शिक्षा – 60
गैर अनुसूचित क्षेत्र अध्यापक लेवल-2 सामान्य शिक्षा – 13420
गैर अनुसूचित क्षेत्र अध्यापक लेवल-2 विशेष शिक्षा – 455
अनुसूचित क्षेत्र अध्यापक लेवल-2 सामान्य शिक्षा – 2580
अनुसूचित क्षेत्र अध्यापक लेवल-2 विशेष शिक्षा – 55
दरअसल, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 31 हजार पदों पर भर्ती किए जाने की घोषणा की थी, लेकिन प्रारंभिक शिक्षा विभाग की ओर से कुल 32 हजार पदों पर भर्ती की जाएगी। इसमें विशेष शिक्षा के एक हजार पद भी शामिल हैं।

यह रहेगा आवेदन शुल्क

सामान्य वर्ग, क्रीमीलेयर वर्ग के अन्य पिछड़ा वर्ग/ अति पिछड़ा वर्ग व राज्य के बाहर के सभी अभ्यर्थी- 100 रुपए
राजस्थान के नॉन क्रीमीलेयर श्रेणी के पिछड़ा वर्ग/ अति पिछड़ा वर्ग और आर्थिक रूप से कमजोर अभ्यर्थी- 70 रुपए
समस्त विशेष योग्यजन और राजस्थान के अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति सहरिया वर्ग- 60 रुपए

रीट पात्रता के नियम

रीट भर्ती परीक्षा के अंकों का प्रतिशत रहेगा भर्ती के लिए आवेदन का आधार
सामान्य / अनारक्षित – 60 अंक (टीएसपी और नॉन टीएसपी)
अनुसूचित जनजाति (ST) – 55 (नॉन टीएसपी), 36 (टीएसपी)
अनुसूचित जाति (SC), ओबीसी, एमबीसी और आर्थिक कमजोर वर्ग – 55 अंक (नॉन टीएसपी और टीएसपी)
समस्त श्रेणी की विधवा और परित्यक्ता महिलाएं व भूतपूर्व सैनिक – 50 अंक (टीएसपी और नॉन टीएसपी)
दिव्यांग – 40 अंक (टीएसपी और नॉन टीएसपी)
सहरिया जनजाति – 36 अंक (टीएसपी और नॉन टीएसपी)
यह रहेगा चयन का आधार: बीकानेर माध्यमिक शिक्षा निदेशालय पात्र परीक्षार्थियों के एकेडमिक इंडेक्स से 10 फीसदी मार्क्स जोड़ेगा। इसके बाद फाइनल मेरिट लिस्ट बनेगी। इसके आधार पर ही सरकार नियुक्तियां देगी। फाइनल मेरिट में 90:10 का फॉर्मूला लगाया जाएगा। यानी 90 फीसदी मार्क्स राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) से लिए जाएंगे, जबकि 10 फीसदी एकेडमिक डिग्री से लिए जाएंगे।

लेवल फर्स्ट: रीट के नंबरों के हिसाब से सीधी मेरिट बनेगी। यानी 150 अंकों में से जितने अंक आए है। अन्य कोई नंबर नहीं जुड़ेंगे।

लेवल सेकंड: रीट के 150 नंबर का 90 फीसदी वेटेज और 10 फीसदी स्नातक के अंक मिलाकर मेरिट बनेगी।

कब तक मिलेगी नियुक्ति: टीचर्स के 32 हजार पदों पर नए सत्र में ही नियुक्ति मिलेगी। उम्मीद की जा रही है कि मार्च और अप्रैल तक नए टीचर्स स्कूल तक पहुंच जाएंगे। दरअसल, नौ फरवरी तक आवेदन ही मांगे गए हैं। ऐसे में अगले एक महीने में ही ये काम हो जाए तो स्टूडेंट्स को लाभ मिलेगा

Comment Below For More Discussion